मौसम फिर मारेगा पलटी, 'कोल्डब्लास्ट' के लिए रहिए तैयार



--राजीव रंजन नाग,
नई दिल्ली, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

हाड़ कंपाने वाली सर्दी के कारण पूरा उत्तर भारत कांप रहा है। हालांकि आज दिल्ली समेत कई राज्यों में हल्की बूंदा-बादी हुई है, जिसकी वजह से कोहरे और शीतलहर की स्थिति में कुछ सुधार नजर आ रहा है लेकिन भारतीय मौसम विभाग ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि एक बार फिर से 15-16 जनवरी को मौसम में परिवर्तन हो सकता है। शीतलहर का प्रकोप देखने को मिलेगा।

वेदरमैन ने एकल अंकों में अधिकतम तापमान और "ठंडा सुबह" या "कोल्डब्लास्ट" दिनों की चेतावनी दी।" पिछले कई हफ्तों से हाड़ कंपा देने वाली रातों के बाद, आईएमडी ने इस सप्ताह उत्तर पश्चिमी भारत के निवासियों के लिए भीषण ठंड से केवल अस्थायी राहत की भविष्यवाणी की है।

मौसम विभाग की जानकारी के मुताबिक उत्तर भारत के इलाकों में तापमान में न्यूनतम -4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 2 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट होने की संभावना है। मौसम विशेषज्ञ के ट्वीट के अनुसार, 14 से 19 जनवरी के बीच बर्फीली, भीषण ठंड का अनुभव होगा और 16 से 18 जनवरी तक इसके सबसे ज्यादा पर रहने की संभावना है। इसके अलावा मौसम के बीच आज सुबह उत्तर रेलवे क्षेत्र में 23 ट्रेनों के देरी से चलने की खबर है।

जम्मू और कश्मीर में भी भीषण सर्दी का प्रकोप जारी रहेगा। राज्य का न्यूनतम तापमान -6 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान लगाया गया है। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, नई दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश सप्ताह के दौरान भीषण शीतलहर की चपेट में रहेंगे। इन राज्यों का न्यूनतम तापमान 0 से 4 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। उत्तर भारत में शीतलहर का कहर 14-19 जनवरी के दौरान सबसे अधिक रहने की संभावना है।

दिल्ली में मौसम वैज्ञानिक सोमा सेन रॉय के अनुसार उत्तर भारत में 15-16 जनवरी से फिर से शीतलहर की स्थिति बनती नजर आ रही है। इस दौरान कोहरे का कोहराम जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि 2 दिन बाद फिर से पूरे उत्तर भारत में तापमान गिरेगा और सबसे ज्यादा असर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी राजस्थान में देखा जाएगा। कोहरे और शीतलहर की मार सह रहे यूपी, बिहार, एमपी, छत्तीसगढ़,पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में लोगों के जनजीवन काफी प्रभावित हो गया है।

केवल मैदानी इलाकों में ही नहीं बल्कि उत्तराखंड, कश्मीर और हिमाचल में जमकर बर्फ पड़ रही है। जिसकी वजह से यहां पर जबरदस्त ठंड हो गई है। केदारनाथ, बदरीनाथ, औली में कल से लेकर आज तक काफी बर्फबारी हुई है। बारिश से अछूता जोशीमठ भी नहीं रहा, यहां भी आज सुबह बरसात हुई है। वहीं कश्मीर में डल झील जम चुकी है और यहां के कई स्थानों में पारा माइनस में जा पहुंचा है। गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है। यही हाल कारगिल और श्रीननगर का भी है। दक्षिण भारत में मौसम साफ है लेकिन यहां भी हवाएं चल रही हैं।

वेस्टर्न डिस्टर्बन्स की वजह से चल रही तेज हवाओं के कारण पिछले कुछ दिनों में उत्तर भारत में कोहरे की स्थिति में सुधार हुआ है, लेकिन मौसम विशेषज्ञ के अनुसार यह राहत ज्यादा दिन तक नहीं रहेगी और कोहरा जल्द ही लौटेगा। अमृतसर में विजिबिलिटी 11 जनवरी को 25 मीटर से बढ़कर 12 जनवरी को 450 मीटर हो गई। इसी तरह, बठिंडा में विजिबिलिटी 12 जनवरी को 0 से बढ़कर 200 मीटर हो गई। चंडीगढ़ में विजिबिलिटी 25 मीटर के निचले स्तर से बढ़कर 400 मीटर हो गई। आईएमडी शिमला ने कहा कि लाहौल-स्पीति और किन्नौर के कुछ इलाकों में अगले दो दिनों तक बर्फबारी जारी रहेगी। इसके साथ ही शिमला में हल्की बारिश होगी और बर्फबारी की संभावना कम है।

पिछले कई हफ्तों से हाड़ कंपा देने वाली रातों के बाद, मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार इस सप्ताह एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के कारण शुक्रवार तक उत्तर-पश्चिमी मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की उम्मीद थी। लेकिन इसने उसके बाद राष्ट्रीय राजधानी में बर्फीली ठंड के एक ताजा दौर की चेतावनी दी।

23 साल में तीसरी सबसे खराब ठंड दर्ज करने के कुछ दिनों बाद, दिल्ली में न्यूनतम तापमान गुरुवार को मौसम के औसत से दो डिग्री अधिक 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी के अनुसार, अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की उम्मीद है। आईएमडी के एक मौसम वैज्ञानिक आरके जेनामनी ने बताया, "2006 में इसी तरह की स्थिति का अनुभव किया गया था जब सबसे कम तापमान 1.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। 2013 में भी इसी तरह की ठंड थी।" उन्होंने कहा कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी यूपी और उत्तरी राजस्थान में भी अगले कुछ दिनों में बूंदाबांदी और हल्की बारिश हो सकती है। 11 से 14 जनवरी के बीच हिमाचल और उत्तराखंड में भी बारिश या बर्फबारी हो सकती है।" ऑनलाइन मौसम मंच लाइव वेदर ऑफ इंडिया के संस्थापक नवदीप दहिया ने ट्वीट किया, 14 से 19 जनवरी के बीच कड़ाके की ठंड पड़ रही है और 16 से 18 जनवरी के बीच इसके चरम पर रहने की संभावना है। राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश से कुछ दिनों के लिए बर्फीले तापमान से कुछ राहत मिल सकती है।

ताजा समाचार

National Report

  India Inside News




Image Gallery