'पठान' पर सेंसर बोर्ड की कैंची, बेशर्म रंग गाने पर भी आपत्ति



--राजीव रंजन नाग,
नई दिल्ली, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) ने शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण की आने वाली फिल्म 'पठान' के निर्माताओं को गाने सहित फिल्म में कुछ बदलावों को लागू करने और एक संशोधित संस्करण जमा करने की सलाह दी है। सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी ने कहा - फिल्म हाल ही में प्रमाणन के लिए सीबीएफसी के पास पहुंची और बोर्ड के दिशानिर्देशों के अनुसार उचित और पूरी तरह की जांच प्रक्रिया से गुजरी।

शाहरुख खान की फिल्म “पठान” इन दिनों हर किसी के जुबां पर है। रिलीज होने से पहले ही यह फिल्म चर्चा का विषय बन गया है। दरअसल, इस फिल्म के एकगाने बेशर्म रंग.... पर जमकर विवाद हो रहा है। इस गाने में दीपिका पादुकोण भगवारंग की बिकिनी पहन शाहरुख के साथ रोमांस कर रही हैं। एक्ट्रेस की बिकिनी के रंग की वजह से कुछ लोगों की भावनाएं आहत हो गई है। लोग इस सॉन्ग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच सेंसर बोर्ड ने शाहरुख खान की फिल्म पर कैंची चलाई है। वहीं बेशर्म रंग गाने में बदलाव करने की मांग की गई है।

हाल ही में शाहरुख खान की ये फिल्म पठान सर्टिफिकेशन के लिए सेंसर बोर्ड पहुंची थी। यहां निर्माता और फिल्म के निर्देशक को ये निर्देश दिया है कि मूवी पठान के गाने में बदलाव लाए जाएं। रिपोर्ट्स के अनुसार सीबीएफसी ने यश राज फिल्म्स को फिल्म पठान के रिवाइज वर्जन को बोर्ड के पास पेश करने के लिए कहा है। हालांकि इन बदलाव को लेकर सेंसर बोर्ड ने कोई खास सुझाव नहीं दिया है। अब देखना ये दिलचस्प होगा कि मेकर्स इस मूवी में और गाने में क्या बदलाव करते हैं।

बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान फिल्म पठान से बड़े पर्दे पर धमाकेदार वापसी करने वाले हैं। शाहरुख की ये मूवी 25 जनवरी को थियेटर्स में रिलीज होगी। इस मूवी में शाहरुख के साथ दीपिका पादुकोण और जॉन अब्राहम भी नजर आएंगे। वहीं रिपोर्ट्स की मानें तो सलमान खान इस एक्शन मूवी में कैमियो सरने वाले हैं। शाहरुख की इस मूवी का दर्शक बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। जनवरी 2023 में हिंदी, तमिल और तेलुगु में रिलीज़ के लिए निर्धारित है। इसका एक गीत 'बेशरम रंग' दीपिका पादुकोण द्वारा पहनी गई नारंगी रंग की बिकनी पर विवाद का कारण बना है।

सीबीएफसी के अध्यत्क्ष प्रसून जोशी ने कहा, "पठान सीबीएफसी के दिशानिर्देशों के अनुसार नियत और जांच प्रक्रिया से गुजरी। समिति ने निर्माताओं को फिल्म में गाने सहित सुझाए गए बदलावों को लागू करने और रिलीज से पहले संशोधित संस्करण प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया है।"

प्रसून जोशी ने कहा कि "सीबीएफसी रचनात्मक अभिव्यक्ति और दर्शकों की संवेदनशीलता के बीच सही संतुलन खोजने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध है और उनका मानना है कि हम हमेशा सभी हितधारकों के बीच सार्थक बातचीत के माध्यम से समाधान ढूंढ सकते हैं।"

"जबकि प्रक्रिया का विधिवत पालन और कार्यान्वयन हो रहा है। मुझे यह दोहराना चाहिए कि हमारी संस्कृति और आस्था गौरवशाली, जटिल और सूक्ष्म है। और हमें सावधान रहना होगा कि यह सामान्य ज्ञान से परिभाषित न हो जाए जो ध्यान को वास्तविक और सत्य से दूर ले जाए।" ...और जैसा कि मैंने पहले भी कहा है कि क्रिएटर्स और ऑडियंस के बीच विश्वास की रक्षा करना सबसे महत्वपूर्ण है। क्रिएटर्स को इसके लिए काम करते रहना चाहिए।'

फिल्म का ट्रैक 'बेशरम रंग' 12 दिसंबर को ऑनलाइन हुआ और जल्द ही यह शहर में चर्चा का विषय बन गया। जबकि कई लोगों ने पेप्पी ट्रैक को पसंद किया, वहीं कुछ ऐसे भी थे जिन्होंने गाने को भगवा और हरे रंग की वेशभूषा के इस्तेमाल पर आपत्तिजनक बताया है। इंदौर में कार्यकर्ताओं के एक समूह ने विरोध प्रदर्शन भी किया और दीपिका और शाहरुख के पुतले जलाए।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्रैक 'बेशरम रंग' के रिलीज होने के कुछ दिनों बाद मीडिया कर्मियों से बात करते हुए गाने में भगवा परिधानों के इस्तेमाल पर आपत्ति जताई थी। फिल्म का गाना सामने आने के बाद नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि अश्लील दृश्य और संवाद को अगर नहीं हटाया गया तो तो फिल्म को एमपी में प्रतिबंधित करने पर विचार होगा। मिश्रा ने कहा था कि फिल्म के गाने में उपयोग की गई कॉस्ट्यूम पहली नजर में बेहद आपत्तिजनक है। यह गाना दूषित मानसिकता के कारण फिल्माया गया है। उन्होंने दीपिका पादुकोण को टुकड़े-टुकड़े गैंग की समर्थक भी बताया था।

ताजा समाचार

National Report

  India Inside News




Image Gallery