सूरत में 'आप' उम्मीदवार का अपहरण, पर्चा वापस लेने लिए मजबूर किया गया



--राजीव रंजन नाग,
नई दिल्ली, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

गुजरात के पूर्वी सूरत से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कंचन जरीवाला ने कल शाम कथित रूप से अपहरण किए जाने के बाद अपना नामांकन वापस ले लिया। मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा गुजरात में हार के डर से बौखला गई है। पूर्वी सूरत से आप के उम्मीदवार कंचन जरीवाला को भाजपा के गुंडों ने किडनैप कर लिया है।

अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) ने बताया कि गुजरात में उसका उम्मीदवार कल से परिवार समेत लापता है। मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि ‘बीजेपी ने आप के उम्मीदवार कंचन जरीवाला को अगवा कर लिया है।’ कंचन जरीवाला सूरत (पूर्व) से आप के उम्मीदवार हैं। सिसोदिया ने आरोप लगाया कि भाजपा गुजरात चुनाव हारने को लेकर डरी हुई है और इसलिए उसने आप के उम्मीदवार का अपहरण कर लिया है। सूरत ईस्ट सीट से आप के उम्मीदवार के अपहरण के आरोप पर अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए मनीष सिसोदिया दिल्ली में चुनाव आयोग के दफ्तर भी पहुंचे।

कंचन जरीवाला ने कल शाम कथित तौर पर अपहरण किए जाने के आरोपों के बाद अपना नामांकन वापस ले लिया। उनको सूरत में रिटर्निंग ऑफिसर के कार्यालय से बाहर निकलते हुए देखा गया। गुजरात चुनाव में आप के लापता कैंडिडेट के पर्चा वापस लेने के बावजूद मनीष सिसोदिया दिल्ली में चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर धरने पर बैठ गए। सिसोदिया के नेतृत्व में चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर आम आदमी पार्टी के लोगों ने प्रदर्शन किया। आप का आरोप है कि बीजेपी के दबाव में बंदूक की नोक पर सूरत से आप उम्मीदवार कंचन जरीवाला का नामांकन वापस करवाया गया।

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि कंचन और उनका परिवार कल से लापता है। वह अपने नामांकन पत्र की जांच कराने गए थे। नामांकन पत्र की जांच कराकर जैसे ही वह कार्यालय से बाहर आए, भाजपा के गुंडे उनको उठाकर ले गए। अब पता नहीं वह कहां है। सिसोदिया ने आरोप लगाया कि भाजपा कंचन जरीवाला को आखिरी बार कल आरओ कार्यालय में देखा गया था। पहले उन्होंने उनका नामांकन रद्द कराने की कोशिश की। बाद में उन पर नामांकन वापस लेने का दबाव बनाया गया।

चुनाव आयोग पर सवाल उठाते हुए आप नेता सिसोदिया ने आरोप लगाया कि ‘यह खतरनाक घटना है। यह केवल एक उम्मीदवार का नहीं बल्कि लोकतंत्र का अपहरण है।’ सिसोदिया ने तत्काल चुनाव आयोग से मामले को गंभीरता से लेने की अपील की।

अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर इस आरोप को दोहराया है। गुजरात में 27 साल से सत्ता में कायम बीजेपी को इस बार आप से आक्रामक चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। जिसने राज्य में पारंपरिक भाजपा बनाम कांग्रेस की प्रतिद्वंद्विता को त्रिकोणीय मुकाबले में बदल दिया है। गुजरात में 1 और 5 दिसंबर को वोटिंग होगी और नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए जाएंगें।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने आज आरोप लगाया कि गुजरात में उसके एक उम्मीदवार का "अपहरण" कर लिया गया। उसे चुनाव कार्यालय में घसीटा गया और फिर उसे ले जाने से पहले अगले महीने होने वाले चुनाव के लिए बंदूक की नोक पर उसका नामांकन वापस लेने के लिए मजबूर किया गया। पार्टी ने सत्तारूढ़ भाजपा को दोषी ठहराया है। भाजपा ने इन आरोपों का जवाब नहीं दिया है।

आप नेताओं ने तूफानी ट्वीट में दावा किया कि पार्टी की सूरत (पूर्वी) से उम्मीदवार कंचन जरीवाला को भाजपा ने 'अपहरण' कर लिया, पुलिसकर्मियों द्वारा चुनाव कार्यालय में लाया गया और वहां से उन्हें एक 'अज्ञात स्थान' पर ले जाया गया। पार्टी ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की है।

ताजा समाचार

National Report

  India Inside News




Image Gallery