विशाखापट्टनम में 1062 करोड़ रुपये लागत की बंदरगाह परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे नितिन गडकरी



विशाखापट्टनम, 12 जुलाई 2018, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

जहाजरानी, सड़क परिवहन तथा राजमार्ग, जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी कल विशाखापट्टनम में 1062 करोड़ रुपये लागत की पांच बंदरगाह परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। इसके अतिरिक्त वह 679 करोड़ रुपये लागत की दो बंदरगाह कनेक्टिविटी परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे।

जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया जाने वाला है उनमें 580 करोड़ रुपये की लागत से विज़ाग बंदरगाह की बाहरी हार्बर पर मौजूदा लोह अयस्क सम्हालन सुविधा का उन्नयन शामिल है। इसमें 40 साल पुरानी लोह अयस्क सम्हालन सुविधा का आधुनिकीकरण तथा उन्नयन शामिल किया जाएगा ताकि यह 8000 मिट्रिक टन/घंटा की लदान दर वाले दो लाख डीडब्ल्यूटी के अपेक्षाकृत विशाल जहाजों को संभाल सके। क्षमता वृद्धि 12.50 एमटीपीए से 16.20 एमटीपीए हो जाएगी। यह कार्य 14.5.2015 को 31 प्रतिशत राजस्व भागीदारी के साथ डीबीएफओटी के आधार पर मैसर्स एस्सार विज़ाग टर्मिनल लिमिटेड को सौंपा गया था और 31.5.2018 को पूरा हो गया।

अन्य परियोजनाएं जिनका उद्घाटन किया जाना है उनमें बंदरगाह के आंतरिक हार्बर पर विकास बर्थ्स जिसकी लागत 243 करोड़ रुपये है तथा पोस्ट पैनामैक्स क्वेय क्रेंस जिसकी लागत 151 करोड़ रुपये है, शामिल हैं। दो नई बर्थों की क्षमता 6.39 एमटीपीए है तथा ये 14.5 मीटर तक के ड्राफ्ट के पैनामैक्स जहाजों को संभालेंगी। परिचालनों के आधुनिकीकरण के तथा उन्हें और अधिक कुशल बनाने के लिए दो पोस्ट पैनामैक्स क्वेय क्रेंस तथा चार रबड़ टायर गेंट्री क्रेंस खरीदी गई हैं। इन क्रेनों को 12 महीने के रिकॉर्ड समय में मार्च 2018 में कमीशन दिया गया था। ये 27-30 संचलन प्रति घंटा की उच्चतर उत्पादकता लाने में सक्षम होंगी और नवीनतम संरक्षा विशिष्टियों से सुसज्जित हैं।

उपरोक्त के अतिरिक्त श्री गडकरी आसपास के रिहायशी इलाकों में धूल फैलने से रोकने के लिए सीहॉर्स जंक्शन से कन्वेंट जंक्शन तक निर्मित 7.5 मीटर ऊंची दीवार का भी उद्घाटन करेंगे। इसकी कुल लंबाई 1700 मीटर है तथा इसे 10.35 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है।

नितिन गडकरी 77 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 4.15 किलोमीटर बंदरगाह कनेक्टिविटी मार्ग – चरण-2 की चार लाइन का भी उद्घाटन करेंगे। इससे सड़क से जाने वाले माल की शीघ्र ढुलाई संभव हो पाएगी। इस परियोजना में विशाखापट्टनम पोर्ट ट्रस्ट (वीपीटी) तथा भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की 50:50 इक्विटी है। वीपीटी की 20 करोड़ रुपये की इक्विटी सागरमाला के माध्यम से है।

वे 679 करोड़ रुपये लागत की दो बंदरगाह परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। पहली परियोजना सागरमाला के अंतर्गत 60 करोड़ रुपये की लागत से कनवेंट जंक्शन के बाहर से एच-7 क्षेत्र से पोर्ट कनेक्टिविटी मार्ग तक ग्रेड सेपरेटर का निर्माण करने की है। इससे व्यस्त कनवेंट जंक्शन से बंदरगाह कनेक्टिविटी मार्ग तक शहरी यातायात से बिल्कुल अलग बाहरी मार्ग की व्यवस्था द्वारा माल वाहनों का भीड़भाड़ से मुक्त आवागमन हो सकेगा। इस परियोजना का कार्यान्वयन वीपीटी की एक एसपीवी विशाखापट्टनम पोर्ट रोड कंपनी लिमिटेड तथा एनएचएआई द्वारा किया जाएगा।

दूसरी परियोजना शीलानगर जंक्शन से अंकापल्ली-सब्बावरम/पेंदुरती-आनंदपुरम मार्ग (एनएच-16) तक 619 करोड़ रुपये की लागत से 12.7 किलोमीटर सड़क कनेक्टिविटी विकसित करने की है। इस कनेक्टिविटी से दक्षिण तथा उत्तर दोनों की ओर जाने वाले कार्गो के लिए शहर के इतर बंदरगाह आधारित कार्गो की आवाजाही में सहायता मिलेगी। इससे बंदरगाह अंकापल्ली से आनंदपुरम तक विशाखापट्टनम शहर बाहरी रोड से सीधे जुड़ जाएगी। इस परियोजना का कार्यान्वयन एनएचएआई द्वारा किया जाएगा।

नितिन गडकरी 11 से 13 जुलाई तक आंध्र प्रदेश के तीन दिवसीय सरकारी दौरे पर हैं। उन्होंने कल पोल्लावरम बांध का दौरा किया। आज वह विशाखापट्टनम में हैं और बंदरगाह तथा अंतर्देशीय जलमार्ग परियोजना की प्रगति की समीक्षा कर रहे हैं। वह कल विशाखापट्टनम में राष्ट्रीय राजमार्गों, बंदरगाह कनेक्टिविटी तथा बंदरगाह परियोजनाओं का शिलान्यास तथा उद्घाटन करेंगे।

Big on Hosting. Unlimited Space & Unlimited Bandwidth

कार्टून
इ-पत्रिका इंडिया इनसाइड
इ-पत्रिका फैशन वर्ल्ड
Newsletter
राष्ट्रीय विशेष