स्टेशन परिसरों के सौंदर्यीकरण के लिए पुरस्कार दिए गए



नई दिल्ली, 12 जुलाई 2018, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

केन्द्रीय रेल तथा कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने रेल भवन में स्टेशनों के सौंदर्यीकरण प्रतियोगिता में शामिल विजेता स्टेशनों को पुरस्कार प्रदान किया। यह प्रतियोगिता दिसंबर, 2017 में क्षेत्रीय रेलों के बीच आयोजित की गई। इसमें मध्य रेलवे के बलहारशाह तथा चन्द्रपुर रेलवे स्टेशनों को पहला पुरस्कार, जबकि पूर्व-मध्य रेलवे के मधुबनी स्टेशन तथा दक्षिण रेलवे के मुदुरई स्टेशन को संयुक्त रूप से दूसरा पुरस्कार मिला। तीसरे पुरस्कार के संयुक्त विजेता रहे पश्चिम रेलवे का गांधीधाम स्टेशन, पश्चिम मध्य रेलवे का कोटा स्टेशन और दक्षिण-मध्य रेलवे का सिकंदराबाद स्टेशन। पीयूष गोयल ने इस प्रतियोगिता में शामिल कलाकारों को नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र दिए। इस अवसर पर रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन, रेल बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। पीयूष गोयल ने सुंदर बनाए गए सभी स्टेशनों के फोटो वाली पुस्तिका का अनावरण भी किया।

रेल और कोयला मंत्री के मार्गदर्शन में भारतीय रेल ने स्टेशनों के सौंदर्यीकरण के लिए नवाचारी पहल की है जिसके अंतर्गत स्थानीय कलाकारों, निजी समूहों तथा स्वयं सेवीओं की ओर से स्थानीय कला का उपयोग करते हुए स्टेशन का सौंदर्यीकरण किया जाता है। इसके तहत क्षेत्रीय रेलवे के 62 से अधिक स्टेशनों का सौंदर्यीकरण किया गया है। यह कार्यक्रम उभरती प्रतिभाओं की अभिव्यक्ति के लिए मंच है।

इस कार्यक्रम में शामिल स्टेशनों के बारे में निर्णय लेने के लिए रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों की एक मूल्यांकन समिति बनाई गई। समिति ने स्टेशनों का मूल्यांकन स्थानीय विषय, संस्कृति प्रदर्शित किए जाने, कला समरूपता और कार्य गुणवत्ता के आधार पर किया। पुरस्कृत प्रविष्टियों का चयन इस समिति की सिफारिशों के आधार पर किया गया जिसकी स्वीकृति रेल बोर्ड के अध्यक्ष द्वार दी गई। प्रविष्टियों को निम्नलिखित नकद पुरस्कार दिए गए।

• प्रथम पुरस्कारः बलहारशाह तथा चन्द्रपुर रेलवे स्टेशन (मध्य रेलवे) - 10 लाख रुपये

• द्वितीय पुरस्कारः मधुबनी रेलवे स्टेशन (पूर्व-मध्य रेलवे) तथा मदुरई रेलवे स्टेशन (दक्षिण रेलवे) – 5 लाख रुपये

• तीसरा पुरस्कारः गांधीधाम रेलवे स्टेशन (पश्चिम रेलवे), कोटा रेलवे स्टेशन (पश्चिम-मध्य रेलवे) तथा सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन (दक्षिण-मध्य रेलवे) – 3 लाख रुपये

इस अवसर पर पीयूष गोयल ने ब्रिज मेनेजमेंट सिस्टम (आईआर-बीएमएस) लांच किया। यह वेब सक्षम आईटी एप्लीकेशन है जिसमें ब्रिज मास्टर डाटा, वर्क डाटा, भारतीय रेल के पूलों का निरीक्षण/निगरानी तथा रख-रखाव कार्य से संबंधित डाटा का एकत्रीकरण, विशलेषण तथा प्रसार कार्य शामिल है। रेल मंत्री ने तीन तकनीकी पुस्तिकाओं- अल्ट्रा सोनिक परीक्षण पुस्तिका, एटी वेल्डिंग पुस्तिका तथा फ्लैश बट बिल्डिंग तकनीकी पुस्तिका- का अनावरण किया।

Big on Hosting. Unlimited Space & Unlimited Bandwidth

कार्टून
इ-पत्रिका इंडिया इनसाइड
इ-पत्रिका फैशन वर्ल्ड
Newsletter
राष्ट्रीय विशेष