नमामी गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत बिहार में सभी 29 परियोजनाओं पर तेजी से कार्य करने का निर्देश



नई दिल्ली, 20 जून 2018, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

● स्‍वच्‍छ गंगा के लिए राष्‍ट्रीय मिशन के महानिदेशक ने नमामी गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत बिहार में सभी 29 परियोजनाओं पर तेजी से कार्य करने का निर्देश दिया

स्‍वच्‍छ गंगा के लिए राष्‍ट्रीय मिशन (एनएमसीजी) के महानिदेशक राजीव रंजन मिश्रा ने नमामी गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत बिहार की परियोजनाओं के बारे में 19 जून को नई दिल्‍ली में समीक्षा बैठक की और राज्‍य सरकार के अधिकारियों, परियोजना लागू करने वाली एजेंसियों तथा ठेकेदारों से कार्य में तेजी लाने का आग्रह किया।

अभी बिहार में 4942.13 करोड़ रूपये की कुल 29 परियोजनाएं स्‍वीकृत हैं, जो क्रियान्‍वयन के विभिन्‍न चरणों में हैं। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि मुंगेर, हाजीपुर, बेगूसराय तथा भागलपुर में इस महीने के अंत तक सीवरेज परियोजनाओं के लिए निविदा आमंत्रित की जायेगी।

स्‍वच्‍छ गंगा के लिए राष्‍ट्रीय मिशन के महानिदेशक ने 8 परियोजनाओं की प्रगति की विस्‍तृत समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने इन परियोजनाओं की आधारशिला क्रमश: 14 अक्‍टूबर 2017 को मोकामा में तथा 10 अप्रैल 2018 को मोतिहारी में रखी थी। मोकामा में पटना के बेउर तथा करमालीचक में चार परियोजनाओं की आधारशिला रखी थी जबकि मोतिहारी में पटना के पहाड़ी तथा सैदपुर जोनों में चार परियोजनाओं के लिए आधारशिला रखी थी।

केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्री नीतिन गडकरी ने 13 जून 2018 को मथुरा परियोजना के लिए रियायत समझौते पर हस्‍ताक्षर के दौरान कहा था कि सरकार गंगा की सहायक नदियों की सफाई के लिए भी प्रतिबद्ध है। महानिदेश के साथ कल की बैठक में बिहार में गंगा की सहायक नदियों पर शुरू की जाने वाली परियोजनाओं के बारे में विस्‍तृत चर्चा की गई। बिहार के सुपौल, मधेपुरा, समस्‍तीपुर, अरवल, गोपालगंज, बगहा, लखीसराय तथा जमुई के लिए विस्‍तृत परियोजना रिपोर्टें तैयार की जा रही हैं। ये परियोजनाएं गंगा की सहायक नदियों कोशी, बुढीगंडक, महानंदा, सोन, गंडक, किउल तथा बागमती पर शुरू की जायेंगी।

स्‍वच्‍छ गंगा के लिए राष्‍ट्रीय मिशन के महानिदेशक ने वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ नमामी गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत बिहार में चल रही सभी परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में राज्‍य सरकार के प्रतिनिधियों के अतिरिक्‍त परियोजना लागू करने वाली एजेंसियों तथा ठेकेदारों के प्रतिनिधि शामिल हुए। एनएमसीजी के महानिदेशक ने राज्‍य सरकार के अधिकारियों से समय सीमा सुनिश्चित करने का आग्रह किया और ठेकेदारों से कार्य में तेजी लाने और परियोजनाओं की समय सीमा का पालन करने को कहा।

Big on Hosting. Unlimited Space & Unlimited Bandwidth

कार्टून
इ-पत्रिका इंडिया इनसाइड
इ-पत्रिका फैशन वर्ल्ड
Newsletter
राष्ट्रीय विशेष