सशस्त्र बल भारत की बहुलता और भारत की प्रकृति का प्रतिनिधित्व करते हैं : राष्ट्रपति



खडगवासला-पुणे, 30 मई 2018, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

● राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के 134वें पाठ्यक्रम के पासिंगआउट परेड की समीक्षा की

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज सुबह (30 मई 2018) पुणे के निकट खडगवासला में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के 134वें पाठ्यक्रम के पासिंगआउट परेड की समीक्षा की।

इस अवसर पर अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने कहा कि वे एनडीए के पासिंगआउट परेड की समीक्षा करके प्रसन्न हैं। सशस्त्र बलों के सुप्रीम कमांडर के रूप में यह क्षण उन्हें अत्यधिक संतुष्टि देता है। सशस्त्र बल संपूर्ण देश के लिए उत्कृष्टता और समर्पण के प्रतीक हैं। परेड में भारत के सभी भागों व विभिन्न समुदायों के कैडेट शामिल हैं। इसकी सद्भावना हमारी एकता को उतना ही दर्शाती है जितना एक समाज के रूप में हमारी बहुलता प्रकट होती है।

राष्ट्रपति ने कहा कि वर्दी में एक सैनिक या सैन्य अधिकारी देश में सभी जगह प्रसंशा और विश्वास पाता है चाहे वह सेना, नौसेना या वायुसेना किसी से भी संबंध रखता हो। कैडेटों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि सशस्त्र बल सिर्फ नौकरी ही नहीं करते बल्कि वे एक आह्वान का जवाब भी देते हैं। आज कैडेट हमारे युवाओं के लिए रोल मॉडल बन गये हैं और वे हमें शांति और समृद्धि की गारंटी देते हैं।

Big on Hosting. Unlimited Space & Unlimited Bandwidth

कार्टून
इ-पत्रिका इंडिया इनसाइड
इ-पत्रिका फैशन वर्ल्ड
Newsletter
राष्ट्रीय विशेष