राष्ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास से नये भारत का निर्माण



रांची, 05 मई 2018, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय, झारखंड सरकार तथा कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा संयुक्‍त रूप से आज रांची के जवाहरलाल फुटबॉल मैदान में राष्‍ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेला का आयोजन किया गया।

समारोह का उद्घाटन ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खान मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास और झारखण्‍ड सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने संयुक्‍त रूप से किया।

उद्घाटन समारोह से पहले, गणमान्‍य अतिथियों ने कृषि और गैर-कृषि आधारित आजीविका विकास क्षेत्रों, सामाजिक जुड़ाव, वित्‍तीय समावेशन और स्‍वच्‍छ भारत अभियान में योगदान के क्षेत्र में दीनदयाल उपाध्याय-राष्‍ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तत्‍वावधान में महिला समूहों द्वारा किए गए कार्यों से संबंधित प्रदर्शनी में 30 स्‍टॉलों का अवलोकन किया। स्टॉलों में झारखंड राज्य आजीविका संवर्धन सोसायटी द्वारा झारखंड और राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में किए जा रहे कार्यों को प्र‍दर्शित किया गया है। प्रदर्शनी में झारखंड के महिला समूहों द्वारा तैयार और विपणन किए जा रहे उत्‍पादों - शहद, बुनाई उत्पादों, बांस उत्पादों, एक दीदी कैफे और इमली को प्रदर्शित किया गया। प्रदर्शनी में दीनदयाल उपाध्‍याय-ग्रामीण कौशल्‍य योजना, ग्रामीण स्‍व-रोजगार प्रशिक्षण संस्‍थानों और प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के कार्यों को प्रदर्शित करने वाले स्टॉल भी लगाये गये। प्रत्येक स्टॉल का प्रबंधन उपर्युक्‍त योजनाओं से जुड़ी महिला उद्यमियों द्वारा किया गया।

रांची में मेले का आयोजन राष्ट्रीय कार्यक्रम के रूप में किया गया। इस अवसर पर 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों, 226 जिलों और 4069 ब्लॉकों में समारोह आयोजित किए गए।

ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खान मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने स्‍व-सहायता महिला समूहों और अन्य प्रतिभागियों का स्वागत किया और विजेताओं को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि आज ग्राम स्वराज अभियान समारोह का अवसर है। ग्राम स्वराज अभियान 14 सितंबर को बाबा भीमराव अंबेडकर साहब के जन्म दिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर-कमलों से छत्तीसगढ़ में आरंभ हुआ था। तब से लेकर आज तक इस योजना के अंतर्गत कार्यक्रम चल रहे हैं। केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा इस अभियान को सफलता के सोपान तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2022 तक जिस नए भारत की कल्‍पना की है, उस नए भारत का बीजारोपण आजीविका समूह की महिलाओं और कौशल प्राप्‍त भाइयों – बहनों ने प्रारम्‍भ कर दिया है । उन्‍होंने कहा कि ग्रामीण विकास मंत्रालय देश में राज्‍य सरकारों के साथ मिलकर 40 लाख से अधिक स्वयं सहायता समूहों पर काम कर रहा है और इसमें 4 करोड़ से ज्‍यादा बहनें लगी हुई हैं। आने वाले कल में 8 से 10 करोड़ बहनों को आजीविका के इस काम से जोड़ना है। उन्‍होंने कहा कि साढ़े 4 वर्षों में 5 लाख 70 हजार युवाओं को पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल विकास योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण दिया गया। इनमें से तीन लाख अड़तालीस हजार युवाओं को रोजगार उपलब्‍ध कराया गया। इसी प्रकार ग्रामीण स्‍वरोजगार प्रशिक्षण संस्‍थान के माध्‍यम से चार वर्ष के दौरान 10 लाख 15 हजार युवाओं को प्रशिक्षित किया गया और इनमें से 5 लाख 92 हजार को नौकरी उपलब्‍ध कराई गई। उन्‍होंने कहा कि ग्रामीण स्व-रोजगार प्रशिक्षण संस्थान के 18 भवनों का लोकार्पण आज हुआ है। ग्रामीण विकास मंत्रालय 31 बैंकों के साथ मिलकर इन संस्‍थानों का संचालन कर रहा है। इस राष्ट्रीय कार्यक्रम में लगभग 25 हजार लोगों ने हिस्‍सा लिया। इनमें महिला स्व-सहायता समूह, डीडीयू-जीकेवाई, आरएसटीआई और पीएमकेके से जुड़े प्रशिक्षुओं के अलावा, भारत सरकार के तीन मंत्रालयों और झारखंड सरकार के अधिकारी शामिल हैं।

डीएवाई-एनआरएलएम से जुड़े दस सर्वश्रेष्‍ठ जियो-ग्राम संगठनों, पांच सर्वश्रेष्ठ आरएसटीआईज और कौशल विकास के तहत सर्वश्रेष्ठ कार्य-निष्‍पादन वाले चार राज्यों – ओडिसा, आंध्र प्रदेश, केरल और असम को पुरस्कार दिए गए। इनका चयन उचित परिश्रम और कठोर मूल्यांकन प्रक्रिया के माध्यम से किया गया । प्रत्येक महिला संगठन को 2 लाख रुपये दिए गए। आयोजकों द्वारा प्रकाशित एक पुस्तिका में वक्‍ताओं और पुरस्कार विजेताओं का विवरण प्रस्तुत किया गया है। झारखंड में सफल महिला उद्यमियों पर बनाई गई एक लघु फिल्म भी प्रदर्शित की गई।

केन्‍द्रीय ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खान मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने झारखण्‍ड सरकार और भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय के सभी अधिकारियों को राष्‍ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेले के भव्‍य आयोजन के लिए धन्‍यवाद दिया। इस अवसर पर झारखंड सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ मुंडा, भारत सरकार के ग्रामीण विकास सचिव अमरजीत सिन्हा, झारखंड सरकार के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी और झारखंड सरकार में ग्रामीण विकास विभाग के सचिव अविनाश कुमार ने भी समारोह को संबोधित किया।

इस वर्ष 14 अप्रैल से 05 मई तक राष्‍ट्रीय स्‍तर पर आयोजित ग्राम स्‍वराज अभियान का आज रांची में राष्‍ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेले के आयोजन के साथ समापन हो गया।

Big on Hosting. Unlimited Space & Unlimited Bandwidth

कार्टून
इ-पत्रिका इंडिया इनसाइड
इ-पत्रिका फैशन वर्ल्ड
Newsletter
राष्ट्रीय विशेष